पहला खत

by Krishna Murari

Clear
Add to cart

Description

About the book
सृजन करता हूं मैं अपनी गीत बाला का, सृजन करता हैं में अपनी प्रीत बाला का, प्रेम के मोहक और मधुर संगीत में डूबा, प्रियतम के स्वरूप का मैं निर्माण करता हूं। मैं एक कवि हूं, प्रेम का आगाज करता हूं।

Additional information

Author's Name

Krishna Murari

Publication Date

January 28, 2020

Paperback

9781643767468

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “पहला खत”

Your email address will not be published. Required fields are marked *

×
×

Cart

Get Your Free Publishing Guide Today